लम्बे समय तक तनाव रहता है तो डायबिटीज, हार्टअटैक और पेटदर्द समेत इन 11 तरह के खतरों से जूझना पड़ सकता है

  • Hindi News
  • Happylife
  • If You Are Stressed For A Long Time, You May Have To Face 11 Types Of Dangers, Including Diabetes, Heart Attack And Stomach Pain, Know Which Problems Can Increase.

Three घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

लगातार तनाव बढ़ने से शरीर पर लगभग 11 तरह के साइड इफेक्ट हो सकते हैं। ये दुष्प्रभाव मस्तिष्क से लेकर शरीर के लगभग सभी प्रमुख अंगों को प्रभावित करते हैं। तनाव के दौरान मस्तिष्क की हायपोथैलेमस ग्रंथि द्वारा भेजे गए संदेशों के कारण एड्रिनल ग्रंथियां स्ट्रेस हॉर्मोन्स रिलीज करती हैं।

दरअसल, किसी विषम परिस्थिति के बनने पर शरीर क्विक रिएक्शन के लिए तैयार होता है, लेकिन उस परिस्थिति के समाप्त होने के बाद भी जब यह रिएक्शन शरीर पर बना रहता है तब इसे ही तनाव कहा जाता है।

तनाव से बढ़ने वाले 11 खतरे

1. हार्ट अटैक : धीरे-धीरे ये बढ़ी हुई धड़कनें और उच्च रक्त दाब आपकी धमनियों को नुकसान पहुंचाने लगते हैं, जिससे हृदयघात का खतरा बढ़ जाता है।

2. तेज धड़कन : स्ट्रेस हार्मोन्स की वजह से दिल तेजी के साथ ब्लड को पम्प करने लगता है। जिसकी वजह से धड़कने तेज हो जाती हैं।

3. हाई ब्लड प्रेशर : स्ट्रेस हार्मोन की वजह से रक्त धमनियों में अतिरिक्त दबाव पड़ता है जिसकी वजह से ब्लड प्रेशर बढ़ता है।

4. सिरदर्द : तनाव आपके सिरदर्द को अचानक बढ़ा सकता है।

5. अनिद्रा : तनाव के चलते नींद का चक्र टूटता है, जिससे नींद आने में समस्या होती है। जिससे अनिद्रा की शिकायत होती है।

6. डिप्रेशन : तनाव व्यक्ति को भावनात्मक रूप से कमजोर कर देता है। व्यक्ति अवसाद में जा सकता है।

7. माहवारी में समस्या : तनाव के कारण महिलाओं में माहवारी की समस्या हो सकती है। पीरियड मिस हो सकते हैं।

8. सांस में अनियमितता : सांस लेने में सहायक मांसपेशियां तेजी से काम करने लगती हैं जिससे सांस तेज हो जाती है अथवा कई बार सांस लेने में दिक्कत होने लगती है।

9. सीने में जलन : तनाव के कारण पेट में बनने वाले एसिड की मात्रा बढ़ जाती है जिससे सीने में जलन की समस्या हो सकती है।

10. पेट दर्द : तनाव शरीर के पाचन तंत्र को भी अलर्ट मोड पर रखता है जिसकी वजह से पेटदर्द, नाक बहना या फिर दस्त जैसी समस्याएं हो सकती हैं।
11. टाइप 2 डायबिटीज :​​​​​​​ तनाव के कारण लिवर अधिक मात्रा में ग्लूकोज रिलीज करता है, जिसकी वजह से टाइप 2 डायबिटीज का खतरा बढ़ता है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here