Lee Pharma to launch favipiravir underneath model identify Faravir at Rs 27 per pill   | हैदराबाद की ली-फार्मा कम्पनी कोरोना की दवा ‘फाराविर’ लॉन्च करेगी, 200 एमजी वाली एक टेबलेट की कीमत होगी 27 रुपए

  • Hindi News
  • Happylife
  • Lee Pharma To Launch Favipiravir Under Brand Name Faravir At Rs 27 Per Tablet  

41 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • ली-फार्मा की ‘फाराविर’ गुरुवार को लॉन्च हुई MSN ग्रुप की ‘फेविलो’ को चुनौती देगी, जिसकी एक टेबलेट की कीमत 33 रुपए है
  • अगर ली-फार्मा दवा की कीमत में बदलाव नहीं करता है तो फेविपिराविर की यह डोज अब तक की सबसे सस्ती दवा साबित होगी

हैदराबाद की एक और कम्पनी कोविड-19 की दवा लॉन्च करेगी। ली-फार्मा कम्पनी एंटी-वायरल ड्रग फेविपिराविर को फाराविर के नाम से लॉन्च करेगी। यह 200 एमजी की टेबलेट में उपलब्ध होगी। एक टेबलेट की कीमत 27 रुपए होगी। अगर कीमत में बदलाव नहीं होता है तो यह कोविड-19 की अब तक की सबसे सस्ती टेबलेट साबित होगी। यह MSN ग्रुप की दवा ‘फेविलो’ को चुनौती देगी जो अब तक की सबसे सस्ती ड्रग है। इसकी एक टेबलेट की कीमत 33 रुपए है।

गुरुवार को हैदराबाद की जेनरिक फार्मा कंपनी MSN ग्रुप ने कोरोना की सबसे सस्ती दवा ‘फेविलो’ लॉन्च की है। इसमें भी फेविपिराविर ड्रग का डोज है। 200 एमजी फेविपिराविर की एक टेबलेट 33 रुपए है। कंपनी के मुताबिक, जल्द ही फेविपिराविर की 400 एमजी टेबलेट भी लॉन्च की जाएगी। कोरोना के मरीजों के लिए पहले भी MSN ग्रुप एंटीवायरल ड्रग ऑसेल्टामिविर को ऑस्लो नाम से लॉन्च कर चुका है। यह 75 एमजी की टेबलेट है।

अब तक की सबसे सस्ती कोविड-19 ड्रग

फार्मा कंपनी दवा का नाम कीमत
MSN ग्रुप फेविलो ₹33
जेनवर्क्ट फार्मा फेविवेंट ₹39
ग्लेनमार्क फार्मा फेबिफ्लू ₹75
सिप्ला सिप्लेंजा ₹68
हेट्रो लैब फेविविर ₹59
ब्रिंटन फार्मा फेविटन ₹59

एक माह में 60 लाख टेबलेट तैयार हो सकेंगी
ली-फार्मा के डायरेक्टर रघु मित्रा एल्ला के मुताबिक, इस दवा को बनाने के लिए हमें ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया की ओर से अप्रूवल मिल गया है। हालांकि हम पहले ही फेविपिराविर ड्रग इजिप्ट और बांग्लादेश को सप्लाय कर रहे हैं। फाराविर को हमारे विशाखापट्‌टम वाले प्लांट में तैयार किया जाएगा। हमारी दवा तैयार करने की कैपेसिटी काफी ज्यादा है। एक माह में हम 60 लाख टेबलेट तैयार कर सकते हैं।

किफायती दवा उपलब्ध कराने का लक्ष्य

रघु मित्रा के मुताबिक, टेबलेट अगले माह लॉन्च हो सकती है। हमारी कोशिश रहेगी कि यह देश के हर कोने तक पहुंचे। दवा को किफायती दामों में उपलब्ध कराने के लिए एक टेबलेट की कीमत 27 रुपए रखी गई है।

अब तक फेविपिराविर का इस्तेमाल इन्फ्लुएंजा में किया जा रहा था

फेविपिराविर ड्रग को बड़े स्तर पर जापानी कंपनी फुजीफिल्म होल्डिंग कॉर्प तैयार करती है। जापानी कंपनी इसे एविगन के नाम से बाजार में बेचती है। 2014 से इसका इस्तेमाल इन्फ्लुएंजा के इलाज में किया जा रहा है।

फैबीफ्लू का स्ट्रॉन्ग वर्जन पेश करेगी ग्लेनमार्क

ड्रग कंपनी ग्लेनमार्क फेविपिराविर के ब्रांड ‘फैबीफ्लू’ को 400 एमजी डोज में लाने वाली है। कंपनी के मुताबिक, इससे रोगियों को कम टेबलेट्स में पूरा डोज मिल जाएगा। फैबीफ्लू का इस्तेमाल कोरोना संक्रमण के हल्के और मध्यम लक्षणों वाले मरीजों का इलाज करने में किया जा रहा है। कंपनी के मुताबिक, इस टेबलेट की कीमत भी 75 रुपए होगी।

0

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here